CurrentGK -> General Knowledge -> Rajasthan -> Rajasthan Sujas April 2012

If you find this context important and usefull. We request to all visitors to sheare this with your friends on social networking channels.

Rajasthan Sujas April 2012

Rajasthan Sujas April 2012

सुजस अप्रैल, 2012

धींगा-गवर

  • इसे बूढ़ी गवर भी कहते हैं। बैसाख में कृष्‍ण पक्ष तक धींगा गवर पूजी जाती है।
  • सूर्य नगरी जोधपुर में धींगा गवर के दिन बेंतमार मेले का अयोजन होता है।

 

राजस्‍थान पुलिस तब और अब

  • 30 मार्च, 1954 को राजस्‍थान पुलिस का झण्‍डा सौंपा।
  • 17 अप्रैल, 1992 को राजस्‍थान के तत्‍कालीन राज्‍यपाल ने राजस्‍थान पुलिस का नया झण्‍डा सौंपा।

 

हाड़ी रानी बटालियन

  • वर्ष 2010 में देश की पहली महिला पुलिस बटालियन, इण्डिया रिजर्व महिला पुलिस बटालियन ‘हाड़ी रानी’ का गठन किया गया।

 

करौली का लघु कुम्‍भ कैलादेवी लक्‍खी मेला

  • उत्‍तर भारत के प्रसिद्ध शक्तिपीठों में से एक कैलादेवी के इस मन्दिर का इतिहास लगभग एक हजार वर्ष पुराना है।
  • भक्‍त लांगुरिया गीत गाते हुए आते है।

 

बूंद-बूंद सिंचाई से किसान हुए खुशहाल

  • सिंचित क्षेत्र में डिग्‍गी बनाकर स्प्रिंकलर (फव्‍वारा) व बूंद-बूंद सिंचाई पद्धति विशेष रूप से लोकप्रिय हो रही है।
  • राजस्‍थान सरकार की ओर से डिग्‍गी व फव्‍वारा तथा बूंद –बूंद सिंचाई पद्धति विशेष रूप से लोकप्रिय हो रही है।

 

नवजीवन योजना बनी संजीवनी

  • अवैध शराब के निर्माण, भण्‍डारण एवं विक्रय में लिप्‍त लोगों के पुनर्वास के लिए राज्‍य सरकार की ‘नवजीवन योजना’ संजीवनी की तरह आई।

 

कैलास मानसरोवर यात्रा सहायता राशि में पांच गुना व़द्धि

  • 2013-14 के बजट में कैलास मानसरोवर की यात्री को दि जाने वाली सहायता राशि एक लाख रूपये कर दि गई है।
  • सिद्ध क्षेत्र में आदिनाथ स्‍वामी ऋषभदेव मोक्ष को प्राप्‍त हुए थे। भगवान बुद्ध का उल्‍लेख आता है कि उनके चार पदचिन्‍ह कैलास के चारों ओर हैं।

 

रेत के महासागर में दमकता अनूठा सोनार दुर्ग

  • एक अप्रतिम दुर्ग है।
  • राजस्‍थान की पश्चिम सरहद पर पसरे मरुस्‍थल के बीच अवस्थित जग प्रसिद्ध सोनार दुर्ग की महिमा ‘तीन लोक से न्‍यारी’ ही है।

 

बाल मित्र थाने बनेंगे

  • राजस्‍थान के जनजाति बहुल दक्षिणांचल डूंगरपुर जिले में नौनिहालों को बाल श्रम से दूर रखने और बाल अधिकारों की रक्षा के लिए जिला प्रशासन, यूनिसेफ और पुलिस विभाग द्वारा एक अनूठी योजना हाथ में ली गई है।

 

माटी का शिल्‍प मोलेला

  • मोलेला या टेराकोटा इसी कलात्‍मक रूचि का अनुपम उदाहरण है।
  • राजसमंद जिला मुख्‍यालय से 32 किलोमीटर दूर मालेला गांव में बसे कुम्‍भकार परिवार परम्‍परागत ढंग से मूर्तियों को बनाकर देश-विदेश में ख्‍याति प्राप्‍त कर चुके है। यह मोलेला गांव का कमाल हे कि यहां के वासियों ने मिट्टी को भगवान का स्‍वरूप देकर धर्म और आस्‍था से जुड़े संवेगों को मूर्तिमान रूप दिया।

 

हर्षनाथ मन्दिर, सीकर

  • शिव हर्षनाथ का यह मन्दिर हर्षगिरि पर स्थित है।
  • विक्रम संवत् 1030 (973ई.) के एक अभिलेख के अनुसार इस मन्दिर का निर्माण चाहमान शासक विग्रहराज प्रथम के शासनकाल में एक शैव संत भावरक्‍त द्वारा करवाया गया था। 




17 Jul, 2019, 10:13:42 AM