CurrentGK -> General Knowledge -> Rajasthan -> Rajasthan Sujas August 2012

If you find this context important and usefull. We request to all visitors to sheare this with your friends on social networking channels.

Rajasthan Sujas August 2012

Rajasthan Sujas August 2012

सुजस अगस्‍त, 2012

 

राजस्‍थान सुनवाई का अधिकार, 2012 

  • स्‍वाधीनता दिवस पर राज्‍यपाल का संदेश
  • 14 नवम्‍बर को वर्ष 2011 से राजस्‍थान लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम, 2011
  • 1 अगस्‍त, 2012 से ‘राजस्‍थान सुनवाई का अधिकार अधिनियम 2012’ लागु किया गया है।
  • 50-50 लाख रूपये की लागत से एक-एक ‘राजीव गांधी भारत निर्माण सेवा केन्‍द्र’

 

मुख्‍यमंत्री का सम्‍बोधन 

  • जोधपुर में आईआईटी, उदयपुर में आईआईएम, अजमेर में केन्‍द्रीय विश्‍वविद्यालय, बीकानेर में पशुधन विश्‍वविद्यालय, कोटा में इन्‍फोर्मेशन टेक्‍नोलोजी व जोधपुर में एम्‍स के साथ ही  अब हमने अलवर, भरतपुर एवं सीकर में विश्‍वविद्यालय, उदयपुर में राजीव गांधी ट्राइबल विश्‍वविद्यालय, जयपुर में स्‍व. हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय, जोधपुर में सरदार पटेल पुलिस एवं सुरक्षा विश्‍वविद्यालय, जयुपर में डॉ0 भीमराव अम्‍बेडकर विधि विश्‍वविद्यालय के साथ ही झुंझुनू में शारीरिक एवं खेल विश्‍वविधालय खोलने का निर्णय लिया गया है।

 

राजस्‍थान में सुनवाई का अधिकार अधिनियम, 2012 

  • 15 दिवस में सुनवाई की अनिवार्यता
  • निर्णय की संसूचना 7 दिवस में देने की अनिवार्यता भी सुनिश्चित की गई है।
  • राजस्‍थान लोक सेवाओं के प्रदान की गारन्‍टी अधिनियम, 2011 लागू।
  • 108 सेवाओं से शुरूआत की जाकर वर्तमान में 153 सेवाएं कर दी गई है।
  • 15 विभागों के 50 विषयों की 108 सेवाओं को शामिल किया गया था।
  • वर्तमान में 18 विभागों की 153 सेवाओं को समयबद्ध एवं पारदर्शी रूप से उपलब्‍ध कराने की गारण्‍टी दी गई है।
  • इन विभागों का कोई अधिकारी या कर्मचारी अधिनियम की परिधि में घोषित सेवाओं को निर्धारित समय सीमा मे प्रदान नहीं करता है तो कम से कम 500 रूपये से लेकर अधिकतम 5 हजार रूपये तक के आर्थिक दण्‍ड का प्रावधान।
  • उपखण्‍ड एवं जिला स्‍तर पर गठित जन अभियोग एवं सर्तकता समितियों की उप समितियों को द्वितीय अपील सूनने का अधिकार।
  • समय पर सुनवाई नहीं होने या निर्णय से असंतुष्‍ट रहने पर 30 दिवस में प्रथम अपील का प्रावधान।
  • प्रथम अपील के निर्णय से सन्‍तुष्‍ट नहीं होने पर 30 दिवस में द्वितीय अपील की व्‍यवस्‍था।
  • ·
  • हेरिटेज लिकर: वर्ष 2003-04 से हेरिटेज पदिरा की नई अवधारणा आरम्‍भ की गई।
  • ·इनमें रॉयल चन्‍द्रहास, रॉयल जगमोहन, रॉयल केसर, सौंफ, इलायची आदि प्रसिद्ध है।
  • वर्ष 2011-12 के आबकारी विभाग के निर्धारित लक्ष्‍य 2800 करोड़ के विपरीत 3000 करोड़ से भी अधिक आय प्राप्‍त हुई है।
  • ·

विशिष्‍ट पहचान बनाने में कामयाब ऊंट अनुसंधान केन्‍द्र – बीकानेर। 

  • बीकानेर स्थित राष्‍ट्रीय उष्‍ट्र अनुसंधान केन्‍द्र गत 28 वर्षों से रेगिस्‍तानी जहाज ऊंट पर अनुसंधान के कारण देश ही नहीं विश्‍व के अनेक देशों मे ख्‍याति अर्जित कर रहा है।

 

साहित्‍यकार पुरस्‍कार सम्‍मान – मीरा समारोह-2012  

  • राजस्‍थान साहित्‍य अकादमी के अध्‍यक्ष वेद व्‍यास
  • कोटा के अंबिका दत्‍त को मीराबाई पुरस्‍कार

 

मनमोहती कमनीय कोटा डोरियां साडियां  

  • कस्बे कैथून की पहचान वहां की पारम्‍परिक लोक
  • मैसूर से कुछ खास मसूरिया बनाने वाले प्रवीण कारीगरों को यहां लाकर बसाया।
  • ·यह मसूरिया वे प्राय: चन्‍देरी से मंगवाया करते थे।
  • मैसूर के कारीगरों द्वारा बनाई जाने के कारण ये ’मसूरिया’ भी कहलाई जाने लगी।
  • कोटा क्षेत्र में बनने के कारण ये ‘कोटा साड़ी’ कहीं जाने लगीं।
  • इस साड़ी को मसूरिया, डोरिया और जरी के नाम से पहचाना जाता हैा
  • जिस साड़ी में तीन व दो तार (डोर) मिलाकर कंघों में लगाकर क्रमश: बुनाई की जाती है उसे ‘डोरिया’ तथा जिसमें स्‍वर्ण पॉलिश वाले चांदी के तार अर्थात जरी के तार का प्रयोग होता है उसे जरी की साड़ी नाम से जाना जाता है।

 

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्‍कार

  • 1991-92 से शुरू किए गए
  • बारह प्रमुख खेलों के चौबीस दिग्‍गजों-महारथियों को अलंकृत किया जा चुका है। इनमें राजस्‍थान के ओलम्पिक रजत पदक विजेता निशानेबाज राज्‍यवर्धन सिंह भी शामिल है।

 

नाहरगढ़ किला

  • महाराजा स्‍वाई जयसिंह द्वारा सन् 1734 में इस किले का निर्माण कराया गया था। इसे ‘टाइगर फोर्ट’ के नाम से भी जाना जाता था।




14 Nov, 2019, 19:19:34 PM