CurrentGK -> General Knowledge -> Rajasthan -> Rajasthan Sujas March 2013

If you find this context important and usefull. We request to all visitors to sheare this with your friends on social networking channels.

Rajasthan Sujas March 2013

Rajasthan Sujas March 2013

सुजस मार्च 2013

22 फरवरी को जैसलमेर जिले के पोकरण-चांधन फायरिंग रेंज में भारतीय सेना के युद्धाभ्‍यास ‘आयरन फिस्‍ट-2013- के साहसिक प्रदर्शन देखते हुए।

v    सर्वहितकारी बजट वर्ष 2013-14 के मुख्‍य बिन्‍दु

  • राजस्‍व घाटा नहीं होना, राजको‍षीय घाटा राज्‍य के सकल घरेलू उत्‍पाद का 3 प्रतिशत से कम होना एवं राज्‍य के कुल ऋण एवं देनदारियां, राज्‍य के सकल घरेलू उत्‍पाद के 37.3 प्रतिशत से कम होना।

 

  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति
    • खैरवा समुदाय के कल्‍याण हेतु विशेष कार्य योजना।
    • ऋषभदेव, मानगढ़ धाम एवं बेणेश्‍वर धाम के विकास हेतु 5-5 करोड़ रूपये।

 

  • किसान
    • कोटा, जोबनेर (जयपुर) एवं जोधपुर में कृषि विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना।

 

  • उद्योग
    • राजस्‍थान वित्‍त निगम द्वारा युवा उद्यमिता प्रोत्‍साहन योजना का संचालन किया जाएगा।

 

  • महिला एवं बाल विकास
    • शुभ लक्ष्‍मी योजना की घोषणा। बालिकाओं के जन्‍म पर 1000 रूपये, 1 वर्ष की आयु होने पर 1000 रूपये, 5 वर्ष की आयु होने पर 2000 रूपये की राशि देय होगी।

 

  • ग्रामीण
    • 50 दिन का अतिरिक्‍त रोजगार, राज्‍य सरकार के खर्चे से।
    • डांग एवं मगरा योजना में 50-50 करोड़ रूपये एवं मेवात योजना में 60 करोड़ रूपये का प्रावधान।

 

 

 

  • आम नागरिक
    • बीपीएल, स्‍टेट बीपीएल एवं अन्‍त्‍योदय परिवारों को 1 रूपये प्रतिकिलों की दर से गेहूं।
    • उचित मूल्‍य की दुकानों के माध्‍यम से बीपीएल परिवारों को 10 रूपये प्रतिकिलो की दर से चीनी।
    • एपीएल परिवारों को 5 रूपये प्रतिकिलो की दर से आटा।
    • वृद्धजन
      • राजस्‍थान वृद्धाश्रम योजना की घोषणा। संचालन हेतु 2000 रूपये प्रतिमाह प्रति आवासी की दर से सहायता।
    • पुलिस
      • सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम रक्षक की नियुक्ति।
    • ऊर्जा
      • जोधपुर में ‘रूफ टॉप पावर जनरेशन स्‍कीम लागू होगी।
    • नगरीय विकास
      • जयपुर में हैबीटेट सेंटर की स्‍थापना।
      • उदयपुर नगर परिषद् का नगर निगम में क्रमोन्‍नयन।
    • अन्‍य
      • वरिष्‍ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना के अंतर्गत 25 हजार वरिष्‍ठ नागरिकों को लाभान्वित करने का लक्ष्‍य
      • कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर दी जाने वाली सहायता राशि 20 हजार रूपये से बढ़ाकर 1 लाख रूपये।

 

v    12 मार्च को सदन में बजट पर हुए सामान्‍य वाद-विवाद का उत्‍तर देते हुए निम्‍नांकित घोषणाएं

  • जोधपुर के अतिरिक्‍त जयपुर एवं अजमेर शहरों में भी ‘रूफ-टॉप पावर जेनरेशन स्‍कीम’ लागु करने की घोषणा की।
  • प्रदेश में वन एवं वन्‍यजीव संरक्षण को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से जयपुर Center of Excellence for Forests and Wildlife Management स्‍थापित किया जाएगा तथा इसका एक उप-केन्‍द्र रणथम्‍भौर में भी खोला जाएगा।
  • जयपुर शहर में 50 स्‍थानों पर वाई-फाई हॉट स्‍पॉट विकसित किये जाएंगे।

 

 

 

समस्‍याओं का त्‍वरित निदान

  • 10 जनवरी,2013 से संचालित ‘प्रशासन गांवों के संग अभियान-2013’ ग्रामीणों के लिए वरदान साबित हुआ है।
  • 9 हजार 177 ग्राम पंचायत मुख्‍यालयों पर शिविर आयोजित किये गये।
  • ·21 विभागों से जुड़ी समस्‍याओं का त्‍वरित समाधान किया गया।

 

राजस्‍थान के एकीकरण का इतिहास

  • पहले चरण में धौलपुर, अलवर, भरतपुर और करौली को मिला कर ‘मत्‍स्‍य संघ’ नाम दिया गया था।
  • 25 मार्च 1948 को इसे ‘राजस्‍थान संघ’ नाम दिया गया।
  • इसका नाम 18 अप्रेल, 1949 को संयुक्‍त ‘राजस्‍थान संघ’ रखा गया।
  • अंतत: 30 मार्च, 1949 को ‘वृहद् राजस्‍थान संघ’ के बैनर के तले एक होने के लिए राजी हुए और उस दिन 22 टूकड़ों में बंटा प्रदेश एक हो गया।
  • 30 मार्च, 1950 से राजस्‍थान दिवस के रूप में याद किया जाने लगा।

 

खाटू का लक्‍खी मेला

  • श्रीकृष्‍ण के श्‍याम नाम को धन्‍य करने वाले खाटू धाम जाने के लिए आगरा-बीकानेर राष्‍ट्रीय उच्‍च मार्ग संख्‍या 11 से समर्पक सड़़कें बनी हुई है।
  • इसकी सम्‍पर्क सड़क रींगस से जाती है।
  • एक मेला कार्तिक मास में और फाल्‍गुन में भरता है।
  • भीम पर अज्ञातवास के दौरान हिडिम्‍बा नामक एक राक्षसी आसक्‍त हुई जिसको घटोत्‍कच नाम का पुत्र हुआ। इसी घटोत्‍कच का पुत्र बर्बरीक था।
  • श्रीकृष्‍ण ने अपने सुदर्शन से उसका सिर धड़ से अलग कर दिया।
  • बर्बरीक के शीश को नदी के प्रवाह में बहा दिया और कालान्‍तर में यही शीश खाटू में एक खुदाई के दौरान प्रकट हुआ।

 

तन फागुन मन पलाश छबीले राजस्‍थान की रंगोली होली

  • शेखावाटी क्षेत्र में जैसे ही होली का डांडा गाड़ा जाता है, गींदड़ खेलना शुरू हो जाता है।
  • गींदड़ नृत्‍य की ही भांति शेखावाटी का एक और समूह नृत्‍य है- चंग नृत्‍य।
  • धमाल का कमाल – नगाड़े अथवा चंग की ताल पर गाइ्र जाने वाली धमालें।
  • स्‍वांग अधिकांशत: उन विषयों पर आधारित होता हैं तथा हमारे जीवन का अभिन्‍न अंग होते हैं।
  • रम्‍मतों का रंग
    • रम्‍मत राजस्‍थानी लोक-नाट्यों का ही एक विशेष रूप हैं।(
    • राजस्‍थाना में इसके कई भेद प्रचलित हैं जैसे रावलों की रम्‍मत, मेघवालों की रम्‍मत, जैसलमेर की रम्‍मतें और बीकानेर की रम्‍मतें।
  • हाथी पर होली
    • जयपुर में होली के दिन रामबाग पोलो ग्राउण्‍ड में हाथी समारोह आयोजित होता है।
    • बादशाही होली तथा फूलडोल
    • नाथद्वारा में सम्‍पूर्ण फागुन राग-रंग का महीना होता है।
    • होली दहन के दूसरे दिन होलोत्‍सव अर्थात फूलडोल का आयोजन होता है।
    • फूलडोल के पश्‍चात बादशाह की सवारी निकलती है।
    • ब्‍यावर की बादशाही होली भी विशेष रूप से प्रसिद्ध है।
    • अकबर ने टोडरमल को तीन दिन की बादशाहत सौंप दी थी।
    • ब्‍यावर में धुलण्‍डी के दूसरे दिन बादशाही होली का आयोजन किया जाता है।
    • जयपुर में गालीबाजी के होते हैं, हेले के दंगल होते हैं वहीं मेवात क्षेत्र में बमरसिया नृत्‍य का आयोजन होता है।
    • बाड़मेर के कनाना क्षेत्र में गैर नृत्‍य का आयोजन होता है।
    • बरसाने में लठ्ठमार होली।

 

 

राजस्‍थान को एक और पर्यटन पुरस्‍कार

  • राज्‍य की राजधानी गुलाबी नगर जयपुर को पर्यटकों एवं ट्रेवल उद्योग से जुड़े लोगो की पहली पसंद के रूप में चुना गया हैं।

 

राजस्‍थान के शिल्‍पकारों की प्रदर्शनी

  • ग्रामीण गैर कृषि विकास अभिकरण (रूड़ा)
  • राजीव गांधी हस्‍तशिल्‍प भवन के शिल्‍पी हाट में विशेष शिल्‍प प्रर्दशनी ‘शिल्‍पांगन’ का आयोजन किया गया।
  • जैसलमेर में आयोजित मरू महोत्‍सव में अतिथि के रूप में राजस्‍थान की राज्‍यपाल श्रीमती मार्ग्रेट आल्‍वा ने भी शिरकत की।

 

राजकीय संग्रहालय सीकर

  • झुन्‍झुनूं के गणेश्‍वर नामक पुरास्‍थल की खुदाई में मिली 3000 वर्ष प्राचीन ताम्र सभ्‍यता के उपकरणों तथा ताम्र भण्‍डारों ने भारतीय इतिहास मे नये आयाम स्‍थापित किए।

 

वनवासियों का महासंगम बेणेश्‍वर धाम

  • गुजरात, महाराष्‍ट्र और राजस्‍थान के लाखों श्रद्धालुओं ने शिरकत की।
  • माघ पूर्णिमा के पवित्र अवसर पर हजारों मेलार्थियों ने अपने मृत परिजनों की मुक्ति की कामना से आबूदर्रा स्थित संगम तीर्थ में पारम्‍परिक अनुष्‍ठान किया।

 

प्रयोगधर्मी शिक्षक तेजकरण डंडिया

  • वर्ष 2010 में उनके शतायु होने पर आयोजित अभिनन्‍दन समारोह के मुख्‍य अतिथि मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत थे।
  • गुजरात की राज्‍यपाल डॉ. कमला जयपुर आइ्र हुई थी।

 

सज्‍जनगढ़ दुर्ग

  • सज्‍जनगढ़ दुर्ग का निर्माण मेवाड़ के महाराणा सज्‍जनसिंह ने सन् 1883 में कराया।
  • महारा़णा सज्‍जनसिंह का दस वर्षीय शासनकाल (सन् 1874-1884)
  • इसको मानसून पैलेस भी कहा जाता है।




20 Sep, 2019, 15:20:11 PM